Showing posts with label Hindi Poem. Show all posts
Showing posts with label Hindi Poem. Show all posts

Sunday, August 06, 2017

कुछ याद उन्हें भी करलो जो लौट के घर न आये | A Poem On Independence Day

अंग्रेजी शासन के क्रूर अत्याचारो,अनैतिक यातनाओं दमनकारी नीतियों से त्रस्त भारतीय जनता में असंतोष का स्वर फूटा। आगे चलकर यही स्वर स्वाधीनता आ...

Friday, February 03, 2017

क्या है मानव | A Poem On Real Human Life In Hindi

मानव का जीवन संघर्षों से भरा हुआ है | इस संसार में जन्में हुए हर प्राणी को कठिनाईयों से गुजरना पड़ता है | हमें क्या करना है और कैसे करना ह...

Monday, January 30, 2017

बेटी की बिदाई | An Emotional Poem | Poem On Vidayi

माँ बेटी को जन्म देती है,पालपोश कर बड़ा करती है लेकिन उसका ममतामयी हृदय काँप जाता है जब वह अपनी बेटी को ससुराल भेजकर खुद से अलग करती है |य...

Advertisement